Menu

देश
चाहे कोई चुनौती आए, 2022 तक दोगुनी करेंगे किसानों की आय- कृषि मंत्री

nobanner

केन्द्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने कहा है कि नरेंद्र मोदी सरकार हर चुनौतियों का सामना करते हुए 2022 तक किसानों की आय को दोगुनी करेगी. इसके लिए उन्होंने सरकार की योजना बताई. कृषि मंत्री ने कहा कि मोदी सरकार, खेती के अलावा, मत्स्य पालन, बागवानी, डेयरी फार्मिंग, शहद पालन जैसे कई क्षेत्रों में भारी निवेश कर रही है. आजतक के कृषि इनोवेशन समिट में कृषि मंत्री ने कहा कि पूर्व के प्रधानमंत्री कहते थे कि देश के खजाने पर किसी खास समुदाय का अधिकार है, लेकिन नरेंद्र मोदी कहते हैं कि देश के खजाने पर यदि किसी का पहला हक है तो वह किसानों का है, और इसलिए इन योजनाओं में इतना निवेश किया गया है.

कृषि मंत्री ने कहा है कि आमदनी बढ़ाने के लिए डेयरी, वानिकी, मत्स्य आदि क्षेत्र में आगे बढ़ना जरूरी है, लेकिन इन क्षेत्रों में 10 साल पहले निवेश पर चर्चा नहीं की गई. कृषि मंत्री ने कहा कि चीन की राजधानी में दूध और सब्जियों की सप्लाई आस-पास के इलाके से होती है, लेकिन दिल्ली में दूध और सब्जी की सप्लाई तेलंगाना और कोलकाता से होती है. उन्होंने दावा किया कि 2022 तक दिल्ली में दूध और सब्जी की सप्लाई एनसीआर इलाकों से होगी.

कृषि मंत्री ने इस मौके पर पूर्व की कांग्रेस सरकार पर आरोप लगाया और कहा कि स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट हालांकि 2006 में ही आ गई थी, लेकिन इस रिपोर्ट पर कांग्रेस की सरकार ने कोई कदम नहीं उठाया. उन्होंने एम एस स्वामीनाथन की एक लेख का जिक्र करते हुए कहा कि 2006 में राष्ट्रीय किसान नीति को पेश किया गया था फिर भी इस पर ज्यादा एक्शन नहीं लिया गया. इसी लेख के हवाले से उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के आने के बाद पिछले साढ़े चार साल में इस नीति पर काफी काम हुआ है.

कृषि मंत्री ने कहा कि मोदी सरकार ने फसल बीमा के रूप में किसानों के लिए सुरक्षा कवच दिया है. उन्होंने कार्यक्रम में देशी नस्ल की गायों के पालन-पोषण और संवर्धन पर जोर दिया. कृषि मंत्री ने कहा कि अब ई पोर्टल के जरिये अच्छी नस्ल की गायें बेची जा रही हैं.