Menu

देश
‘नदी की आरती तो शाम को होती है, राहुल गांधी दोपहर में ही आरती करते हैं’

nobanner

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटी कांग्रेस भी बीजेपी को धर्म और राम मंदिर मुद्दे पर आक्रामक हो रही है. पंचायत आजतक मध्य प्रदेश में भी यह नजारा देखने को मिला. ‘विकास के नाम पर धर्म की राह पर !” नाम के सेशन में बीजेपी और कांग्रेस दोनों ने एक दूसरे पर धर्म की राजनीति कर फायदा उठाने के आरोप लगाए.

कांग्रेस ने बीजेपी पर राम मंदिर मुद्दे पर जनता से धोखा करने का आरोप लगाया. इसके जवाब में बीजेपी की ओर से पार्टी उपाध्यक्ष एवं राज्यसभा सदस्य प्रभात झा ने राहुल गांधी के मंदिर दौरों को लेकर निशाना साधा.

प्रभात झा ने कहा कि यह सब जानते हैं कि नदी की आरती शाम में होती है. नदी को हम मां मानते हैं और शास्त्रों में लिखा हुआ है कि मां की अराधना पूजा शाम में होती है. लेकिन राहुल गांधी को यह नहीं पता है और राहुल गांधी दोपहर में ही आरती करते हैं. जनता नादान नहीं है और वह सब देख रही है.

इसके जवाब में कांग्रेस प्रवक्ता मुकेश नायक ने कहा कि सूर्य भी कभी अस्त होता है क्या. उन्होंने सवाल उठाया कि भारतीय शास्त्र में पूजा करने, आरती करने का भी कोई समय होता है? तो बीजेपी ने उनके बयान को काटा कि फिर पंडित के पास क्यों जाते हो मुहूर्त निकालने.

इस सवाल पर कि पूजा और आरती चुनाव के समय ही क्यों हो रही है तो कांग्रेस प्रवक्ता ने जवाब दिया कि यह पूजा नेहरू के समय से हो रही है. वहीं जब इंदिरा गांधी मंदिरों में दूध चढ़ाती थीं तो उनपर आरोप लगते थे कि दूध बर्बाद कर दिया.

आपको बता दें कि मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए सियासी दलों ने कमर कस ली है. सत्ताधारी बीजेपी और विपक्ष में बैठी कांग्रेस के नेता जनता के बीच है. सियासी सरगर्मी लगातार बढ़ रही है. बदलते सियासी तापमान में लोगों के मनमिजाज का जायजा लेने के लिए शुक्रवार को भोपाल में पंचायत आजतक का मंच सजा है. इसमें राजनीतिक दलों के कई दिग्गज शिरकत कर रहे हैं.

कार्यक्रम की शुरुआत केन्द्रीय ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर के अहम सत्र ‘मोदी हैं ना’ से हुई. पंचायत आजतक के पहले सत्र  मोदी हैं ना! में  नरेंद्र सिंह तोमर, केंद्रीय मंत्री, ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज और खनन ने शिरकत की. इस सत्र का संचालन इंडिया टुडे समूह के न्यूज डायरेक्टर राहुल कंवल ने किया.

क्या 15 साल बाद बीजेपी को जिता पाना बड़ी चुनौती है? इसपर नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि बीजेपी सबका साथ सबका विकास की नीति पर काम कर रही है. बीचे 15 साल के दौरान राज्य सरकार ने लगातार एक मजबूत अर्थव्यवस्था खड़ी की है और राज्य का जीडीपी आंकड़ा बेहतर हुआ है, इसलिए बीजेपी के लिए आगामी चुनावों में जीत हासिल करना आसान है.