Menu

देश
पापा की मेज पर पैर चढ़ाकर बैठी कनाडा के PM ट्रूडो की बेटी, सोशल मीडिया पर Viral हुई तस्वीर

nobanner

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने इंटरनेशनल डे फॉर गर्ल चाइल्ड पर अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर जो तस्वीर पोस्ट की है, उसे देख कर अचानक से आपकी नजरें ठहर जाएंगी. दरअसल, देखने से ये तस्वीर उनके ऑफिस की लग रही है और इसमें उनकी बेटी उनके डेस्क पर लगी कुर्सी पर बैठी है. यही नहीं, उनकी बेटी एलोग्रेस मार्गरेट ट्रूडो ने किसी राजकुमारी की तरह अपने दोनों पैरों को पापा के काम करने की मेज पर चढ़ा रखा है.

कैप्शन में उन्होंने लिखा है, “लड़कियों का अंतर्राष्ट्रीय दिवस मुबारक हो.” वहीं, इस पोस्ट को लिखे जाने तक ट्रूडो के इस पोस्ट पर 86,000 लाइक, 28,000 कमेंट और 12,000 शेयर आए हैं. इसी से जुड़े इंस्टाग्राम पोस्ट में ट्रूडो ने लिखा, “आज का दिन हमारी बेटियों, पोतियों, बहनों और भतीजियों के लिए है. ये दिन इस बात को तय करने का दिन है कि वो एक ऐसी दुनिया में बड़ी हों, जहां वो जो कहें उसे सुना जाए और वो समर्थन हासिल हो जिससे वो अपने सपनों को पूरा कर पाएं.” ट्रूडो के इस इंस्टा पोस्ट को भी 265,476 l लाइक मिले हैं.

डो की इस तस्वीर को मिला समर्थन
इस पोस्ट के बाद ट्रूडो के समर्थन में कई कमेंट देखने को मिल रहे हैं. ऐसे ही एक कमेंट में बिल ने लिखा है, “आपको लिए वॉशिंगटन डीसी ऐसी तस्वीर नहीं पोस्ट करने जा रहा है.” वॉशिंगटन डीसी से इस कमेंट को लिखने वाले का मतलब अमेरिका से है. बिल कहना चाहते हैं कि अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ऐसी कोई तस्वीर पोस्ट नहीं करने जा रहे हैं.

वहीं, सैमुअल नाम के एक और व्यक्ति ने इस तस्वीर पर कमेंट करते हुए लिखा है, “जस्टिन को और समय दिया जाना चाहिए. आपने कनाडा को पहले से बेहतर बनाया है. आपको हमारी सेवा करने के लिए पक्का एक और कार्यकाल दिया जाएगा. शुक्रिया जस्टिन.”

यूनाइटेड नेशंस की घोषणा के बाद 11 अक्टूबर को मनाया जाने वाला लड़कियों के अंतर्राष्ट्रीय दिवस पहली बार 2012 में मनाया गया था. इसे इंटरनेशनल डॉटर्स डे भी कहते हैं. इस दिनों को महिलाओं के लिए और अवसरों और लैंकिग समानता को लेकर लोगों में जागरुकता फैलाने के अभिप्राय से मनाया जाता है. असमानता मिटने के लिए जिन पैमानों को तय किया गया है उनमें शिक्षा तक पहुंच, कानूनी अधिकारी, पौष्टिक भोजन, स्वास्थ्य सुरक्षा, भेदभाव से सुरक्षा, महिलाओं के खिलाफ अपराध से सुरक्षा जैसी बातें शामिल हैं.

आपको बता दें कि 46 साल के जस्टिन ट्रूडो को 2015 में कनाडा का 23वां प्रधानमंत्री चुना गया. वो महिला अधिकारी जैसी कई और अच्छी बातों के लिए जाने जाते हैं. महिला अधिकार को सिर्फ शब्दों ही नहीं बल्कि अपने फैसलों में भी झलकाया है. उन्होंने अपने मंत्रिमंडस में 15 पुरुषों के साथ 15 महिलाओं को जगह दी है, जिससे साफ है उनकी बेटी की ये तस्वीर ट्रूडो के जीवन का कोई प्रतीकात्मक पहलू नहीं है, बल्कि वो सच में महिलाओं के समानता के अधिकार में विश्वास करते हैं.