Menu

राजनीति
BJP प्रत्‍याशी चुनाव से 2 दिन पहले कांग्रेस में लौटा, CM की पत्‍नी की राह हुई आसान

nobanner

तीन नंवबर को रामनगर विधानसभा सीट के लिए होने जा रहे उपचुनाव के लिए मैदान में उतरने के लिए कांग्रेस के नेता एल चंद्रशेखर ने बीजेपी का दामन थामा था. पार्टी ने उनको टिकट भी दिया और इस तरह वह मुख्‍यमंत्री एचडी कुमारस्‍वामी की पत्‍नी अनीता को चुनौती देने के लिए चुनावी मैदान में उतर गए. दरअसल कुमारस्‍वामी ने कर्नाटक चुनावों के दौरान दो सीटों से विधानसभा चुनाव लड़ा था. दोनों ही जगहों से जीतने के कारण उन्‍होंने अपनी इस परंपरागत सीट को छोड़ दिया. अपनी जगह अनीता को इस बार उम्‍मीदवार बना दिया. लेकिन अब चुनाव से महज दो दिन पहले बीजेपी प्रत्‍याशी चंद्रशेखर ने मुकाबले से हटने का ऐलान करते हुए फिर से कांग्रेस में जाने की बात कहकर सबको हैरान कर दिया है.

एल चंद्रशेखर ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि पार्टी में एकता नहीं है और उनको कोई वास्‍तविक सहयोग नहीं मिला. इसलिए वह अपनी पुरानी पार्टी में वापस जा रहे हैं.  इससे तीन नवंबर को रामनगर विधानसभा सीट के लिए होने जा रहे उपचुनाव में अनीता को फायदा मिलने की उम्‍मीद जताई जा रही है. रामनगर सीट एचडी कुमारस्‍वामी का गढ़ मानी जाती है. यह सीट इसलिए भी मशहूर है क्‍योंकि इसी इलाके में ‘शोले’ फिल्‍म की शूटिंग भी हुई थी.

अभी तक ये सीट कांग्रेस और बीजेपी दोनों के लिए प्रतिष्‍ठा का विषय बनी हुई है. ऐसा इसलिए क्‍योंकि कुमारस्‍वामी का नाम इस सीट से जुड़ा होने के कारण विपक्षी बीजेपी ने इस सीट पर अपनी ताकत झोंक दी थी. विपक्ष इस सीट पर जीत और हार को कुमारस्‍वामी के कामकाज पर जनता की मुहर से जोड़कर पेश कर रहा था लेकिन इस तरह के पालाबदल के बाद विपक्ष की तरफ से कोई कद्दावर चेहरा नहीं बचा.

अनीता इससे पहले मधुगिरी सीट से विधायक रह चुकी हैं लेकिन रामनगर के पड़ोस वाली सीट चेन्‍नापटना से चुनाव हार चुकी हैं.

रामनगर सीट
दक्षिण कर्नाटक में स्थित यह सीट जेडीएस का गढ़ मानी जाती है. इसी मार्च में हुए कर्नाटक विधानसभा चुनाव में एचडी कुमारस्‍वामी रामनगर और चेन्‍नापटना सीट से जीते थे. बाद में उन्‍होंने रामनगर सीट छोड़ दी थी. उल्‍लेखनीय है कि कर्नाटक की तीन लोकसभा और दो विधानसभा सीटों पर तीन नवंबर को उपचुनाव होने जा रहे हैं.